धातु एवं अधातु

Chapter 2 Metals and non-metals (धातु एवं अधातु)


धातुएँ क्या होती हैं

धातुएँ वे पदार्थ होती हैं जोकि तन्य आघातवर्धय चमकीली और ऊष्मा तथा विद्युत की सुचालक होती हैं तथा ये कमरे के ताप पर ठोस होती हैं धातुएँ विद्युत धनात्मक तत्व होते हैं क्योंकि ये अपना इलेक्ट्रान देकर स्वयं धनायन में परिवर्तित हो जाती हैं

Some examples of metals (धातुओं के कुछ उदाहरण)

आयरन , मैग्नीशियम , कॉपर , जींक , लेड , एलुमिनियम

अधातुएँ क्या होती हैं

अधातुओं में चमकीली नहीं होती हैं अधातुएँ ऊष्मा तथा विद्युत की कुचालक होती हैं अधातुएँ ठोस एवं द्रव अवस्था दोनों में हो सकती हैं जैसे कि ब्रोमीन अधातु ठोस अवस्था के बजाय द्रव अवस्था में होती है

Some examples of non-metals (अधातुओं के कुछ उदाहरण)
कार्बन , सल्फर , ऑक्सीजन , आयोडीन , हाइड्रोजन आदि

धातुओं के रासायनिक गुणधर्म

धातुओं को वायु में दहन करने पर क्या होता है
जब हम धातुओं को वायु की उपस्थिति में जलाते हैं तो धातु ऑक्साइड बनता है

धातु   +    ऑक्सीजन       धातु ऑक्साइड

उदाहरण

जब हम कॉपर को वायु की उपस्थिति में गर्म करते हैं तो ऑक्सीजन के साथ मिलकर काले रंग का कॉपर ऑक्साइड बनाता है

2 Cu   +   O 2       2 Cuo    (कॉपर ऑक्साइड)

इसी प्रकार हम एलुमिनम ऑक्साइड भी बनाते हैं

4Al   +   3O 2       2 Al2O 3    (एलुमिनियम ऑक्साइड)

उभयधर्मी ऑक्साइड क्या होते हैं

ऐसे धातु ऑक्साइड जो अम्ल तथा क्षारक दोनों से अभिक्रिया करके लवण तथा जल प्रदान करते हैं वह उभयधर्मी ऑक्साइड कहलाते हैं

Al2O3   +   6HCl (Acid)       2AlCl3   +  3H2o

Al2O3   +   NaOH (Base)       2NaAlO2   +  H2o

(अभिकारक)  +   (अभिकारक)       (उत्पाद)   +   (उत्पाद)

संतुलित रासायनिक समीकरण क्या है

संतुलित रासायनिक समीकरण में लेफ्ट हैंड साइड (L.H.S) में उपस्थित अभिकारक के अणुओं की संख्या राइट हैंड साइड (R.H.S) में निर्मित उत्पाद के अणुओं की संख्या के बराबर होना चाहिए तब इस प्रकार की समीकरण को संतुलित रासायनिक समीकरण कहते हैं

Example : 2 Mg (अभिकारक)  +   O 2 (अभिकारक)       2 Mgo (उत्पाद)

रासायनिक अभिक्रियों के प्रकार

  1. संयोजन अभिक्रिया
  2. वियोजन अभिक्रिया
  3. विस्थापन अभिक्रिया
  4. ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया
  5. ऊष्माशोषी अभिक्रिया
  6. उपचयन अभिक्रिया
  7. अपचयन अभिक्रिया
  8. रेडॉक्स अभिक्रिया

संयोजन अभिक्रिया : वह रासायनिक अभिक्रिया जिसमें दो या दो से अधिक अभिकारक आपस में सहयोग कर एक उत्पाद का निर्माण करते हैं ऐसी रासायनिक अभिक्रिया को संयोजन अभिक्रिया कहते हैं

Example :

  1. C   +    O2       Co2
  2. S   +    O2       So2
  3. 2 H 2   +    O2      2 H2 o

वियोजन अभिक्रिया : वह रासायनिक अभिक्रिया जिसमे एक अभिकारक टूट कर दो या दो से अधिक उत्पादों का निर्माण करता है तब ऐसी रासायनिक अभिक्रिया को वियोजन अभिक्रिया कहते हैं

Example :

  1. CaCo3      CaO + Co2
  2. 2 AgBr      Ag   +   Br2
  3. 2 AgCl      Ag   +   Cl2

विस्थापन अभिक्रिया : वह रासायनिक अभिक्रिया जिसमे एक अभिकारक दूसरे अभिकारक की एक तत्व को उसके स्थान से हटा कर खुद उसका स्थान घेर लेता है ऐसी रासायनिक अभिक्रिया को विस्थापन अभिक्रिया कहते हैं

Example :

  1. Pb   +    CuSo4      PbSo4   +    Cu
  2. Zn   +    CuSo4      ZnSo4   +    Cu
  3. Fe   +    CuSo4      FeSo4   +    Cu

ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया : वह रासायनिक अभिक्रिया जिसमे उत्पाद के साथ-साथ ऊष्मा का भी उत्सर्जन होता है तो ऐसी रसायनिक अभिक्रिया को ऊष्माक्षेपी रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं

Example :

  1. CH4   +   2O2   Co2   +    2H2o   +    (ऊष्मा)
  2. C6H12+   6O2      6Co2   +    6H2o   +    (ऊष्मा)

ऊष्माशोषी अभिक्रिया : वह रासायनिक अभिक्रिया जो की उस्मा को शोषित करती है तो ऐसी रासायनिक अभिक्रिया को उस्मा शोषि रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं

Example :

  1. H2   +   O2   2HO
  2. N2   +   O2   2NO

उपचयन अभिक्रिया : वह रासायनिक अभिक्रिया जिसके संपन्न होने के उपरांत किसी पदार्थ में ऑक्सीजन की वृद्धि होती है तो ऐसी रासायनिक अभिक्रिया को उपचयन अभिक्रिया कहते हैं

Example :

  1. 2Cu2   +   O2   2CuO
  2. अपचयन अभिक्रिया : वह रासायनिक अभिक्रिया जिसके संपन्न होने के क्रम में किसी पदार्थ में ऑक्सीजन की कमी होती है तो ऐसी रासायनिक अभिक्रिया को अपचयन रासायनिक अभिक्रिया कहते हैं

    Example :

    1. CuO   +   H2   Cu    +    H2O
    2. रेडॉक्स अभिक्रिया : वह रासायनिक अभिक्रिया जिसमे एक अभिकारक उपचयित तथा दूसरा अभिकारक अपचयित होता है तो ऐसी रासायनिक अभिक्रिया को रेडॉक्स अभिक्रिया कहते हैं

      Example :

      1. ZnO   +   C   Zn    +    CO